HNN/ नाहन

उपायुक्त सिरमौर रामकुमार गौतम ने जिला वासियों से इको फ्रेंडली दिवाली मनाने की अपील की है। उन्होंने कहा कि सभी लोग इस वर्ष इको फ्रेंडली दिवाली मनाने की कोशिश करें ताकि यह उत्सव सुरक्षित होने के साथ-साथ भव्य हो सके। उन्होंने कहा कि दिवाली के अवसर पर सस्ते में उपलब्ध होने वाले पटाखों की वजह से पर्यावरण में जहरीली गैस मिल जाती हैं।

इन जहरीली गैसों से कई प्रकार की खतरनाक बीमारियां पैदा होती है और वायु प्रदूषण व ध्वनि प्रदूषण भी पर्यावरण में बढ़ जाता है। जिसके दूरगामी परिणाम खतरनाक साबित होते है। उन्होंने कहा कि प्रशासन सहित सभी की यह जिम्मेदारी है कि हम अपने पर्यावरण को साफ और स्वच्छ रखने के लिए अपनी जिम्मेदारी उठाएं।

सिरमौर में चयनित स्थानों पर ही बेच सकेंगे पटाखे

सिरमौर में चयनित स्थानों पर ही दुकानदार पटाखे बेच सकेंगे। पटाखे बेचने के लिए संबंधित उपमंडल अधिकारी से लाइसेंस लेना होगा आवश्यक जिला सिरमौर में दिवाली के दौरान संबंधित पंचायत, नगर परिषद व नगर पंचायतों द्वारा चयनित एवं उपलब्ध कराए गए स्थानों पर ही पटाखों की बिक्री हो सकेगी इसके अतिरिक्त पटाखों को बेचने के लिए संबंधित उप मंडल अधिकारी से लाइसेंस लेना अनिवार्य होगा। यह आदेश जिला दंडाधिकारी सिरमौर राम कुमार गौतम ने जारी किए।

उन्होंने बताया कि पटाखों को बेचने के लिए चयनित स्थानपर आतिशबाजी और पटाखों को शेड्स में रखना होगा जोकि गैर ज्वलनशील सामग्री से अलग हो और उस शेड में किसी गैर व्यक्ति का प्रवेश ना हो इसके अतिरिक्त बिक्री स्थल से 50 मीटर के दायरे में आतिशबाजी व पटाखे चलाने की अनुमति नहीं होगी। उन्होंने बताया कि जिला में सुबह 6 बजे से पहले व रात को 10 बजे के बाद पटाखे चलाने पर प्रतिबंध रहेगा।

इसके अतिरिक्त साइलेंसजोन जैसे कि अस्पताल, स्कूल, न्यायिक अदालत और धार्मिक स्थलों से 100 मीटर के दायरे के अंदर आतिशबाजी पर पूर्णतया प्रतिबंध रहेगी। उन्होंने बताया कि सभी संबंधित विभागों को किसी भी आपातकालीन स्थिति से निपटने के लिए आवश्यक प्रबंध करने के दिशा-निर्देश जारी कर दिया गया है।