मेले में आयोजित दंगल में विजेता रहे चंडीगढ़ के अमित

HNN / श्री रेणुका जी

सतयुगी तीर्थ कहलाने वाले रेणुकाजी मे रविवार को हजारों श्रद्धालुओं ने एकादशी स्नान किया। सुबह ब्रह्म मुहूर्त से ही स्नानघाट पर लोगों की भीड़ जुटना शुरू हो गई थी। रविवार को अंतरराष्ट्रीय मेला रेणुकाजी का शुभारंभ करने पंहुचे मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर व उनकी पत्नी ने भी नाहन निकलने से पहले मंदिर में पूजा-अर्चना की। सात दिवसीय इस मेले का आखरी स्नान पूर्णिमा को होगी तथा इस दिन मेले का समापन्न भी होगा।

एकादशी व पुर्णिमा को यहां भगवान परशुराम को भी स्नान करवाया जाता है। यहां न केवल हिमाचल प्रदेश बल्कि बाहरी राज्यों से भी भारी तादाद में श्रद्धालु स्नान करने पहुंचे। यहां ऐसी मान्यता है कि एकादशी के दिन यहां स्नान करने से व्यक्ति पाप मुक्त हो जाता है, साथ ही लोगों की सारी मनोकामनाएं पूरी हो जाती है।

यहां आए श्रद्धा राकेश निवासी पंजाब और शुभम निवासी हरियाणा ने बताया कि वह परिवार के साथ माता रेणुका व भगवान परशुराम के दर्शन करने आये हुए है। उन्होंने कहा कि इस तीर्थ स्थल पर आकर जो भी मन्नत मांगी जाती है वह पूरी हो जाती है। मेले के दूसरे दिन हजारों की संख्या में श्रद्धालुओं ने माता रेणुका और भगवान परशुराम के मंदिरों में शीश नवाया।

मेले के दूसरे दिन आयोजित दंगल में चंडीगढ़ के अमित विजेता बने। इस अवसर पर मेला अधिकारी व तहसीलदार संगडाह आत्माराम नेगी ने विजेता को 31000 रुपए के नकद इनाम से सम्मानित किया। इस दंगल में दूसरा स्थान पटियाला के अजय ने प्राप्त किया जिन्हें श्री रेणुका जी विकास बोर्ड की ओर से 15000 रुपए का नकद इनाम दिया गया। इस दंगल में 70 जोड़ियों ने अपना दमखम दिखाया और हजारों दर्शकों का मनोरंजन किया।