Himachals-garlic-demand-de.jpg

बांग्लादेश और नेपाल में बढ़ने लगी हिमाचल के लहसुन की डिमांड

HNN/ सोलन

औषधीय गुणों से भरपूर हिमाचल प्रदेश के लहसुन की डिमांड बांग्लादेश और नेपाल में बढ़ने लगी है। हालांकि, किसानों को पिछले साल की अपेक्षा इस साल लहसुन के भाव कम मिल रहे हैं। सोलन सब्जी मंडी में इन दिनों लहसुन को 70 से 80 रुपए प्रति किलो दाम मिल रहे हैं। जबकि गत वर्ष लोकल लहसुन 100 से 120 रुपये किलो तक बिका था। ऐसे में कुछ किसानों ने लहसुन की फसल को स्टोर करके रख दिया है क्योंकि अक्टूबर और नवंबर माह के दौरान लहसुन के दामों में इजाफा आने की संभावना है।

ऐसे में दामों में उछाल आने के साथ ही किसान स्टोर किए गए लहसुन को सब्जी मंडियों तक पहुंचाएंगे। बता दें कि जून माह में 40 टन लहसुन की खेप बांग्लादेश भेजी गई है और अब नेपाल से भी लहसुन की भारी डिमांड आने के चलते यहां भी जल्द ही सप्लाई भेजी जाएगी। विदेशों में हिमाचली लहसुन की अधिक मांग की बड़ी वजह यह है कि इसकी सेल्फ लाइफ और गुणवत्ता अधिक है। हिमाचली लहसुन को उगाते समय किसान कीटनाशक और खाद का बेहद कम उपयोग करते हैं।

यह इम्यून सिस्टम को मजबूत रखने में रामबाण है। कमेटी सोलन के सचिव रविंद्र शर्मा ने बताया कि देश सहित विदेशों में भी हिमाचली लहसुन की डिमांड बढ़ती जा रही है। कहा कि इस साल सीजन की शुरूआत में लहसुन 60 रुपए किलो बिका और इन दिनों यह 70 से 80 रुपए प्रति किलो के हिसाब से बिक रहा है। कहा कि अभी किसानों को लहसुन के बेहतर दाम मिल रहे हैं तथा अक्टूबर और नवंबर माह तक लहसुन के दाम 100 रुपए प्रति किलो तक पहुंच सकते हैं।


Posted

in

,

by

Tags: