HNN/ शिमला

इस बार किसानों को हरा मटर मालामाल कर रहा है। बाहरी राज्यों में हिमाचल प्रदेश के मटर की मांग अत्यधिक है जिसके चलते इसके दाम भी आसमान छू रहे हैं। आलम यह है कि हरे मटर के दाम मंडियों में 100 रुपए प्रति किलो से भी ऊपर पहुंच गए हैं। तो वहीं बाजारों की बात करें तो हरा मटर लोगों की पहुंच से दूर हो चुका है।

हरे मटर के दाम आसमान छू रहे हैं जिसके चलते लोग इसे खरीदने से परहेज कर रहे हैं। हालाँकि डिमांड अधिक होने के चलते प्रदेश के मटर की खेप बाहरी राज्यों की मंडियों महाराष्ट्र और गुजरात में पहुंच रही है। बता दें कि ढली मंडी में आनी, करसोग, छतरी, गिरिपार, ठियोग, रोहड़ू, चिड़गांव, जुब्बल तथा कोटखाई से मटर की खेप पहुंच रही है।

यहां किसानों को 100 से 130 रुपये किलो थोक भाव जबकि 10,000 से 13000 रुपये प्रति क्विंटल मटर के दाम मिल रहे है। महाराष्ट्र और गुजरात में भारी मांग के चलते ढली मंडी से रोजाना करीब 400 क्विंटल मटर भेजा जा रहा है। आढ़ती एसोसिएशन ढली मंडी के उपाध्यक्ष अमन सूद ने बताया कि सीजन की शुरुआत से ही मटर के अच्छे दाम मिल रहे हैं। उन्होंने कहा कि आगामी दिनों में मटर का सीजन और अधिक रफ्तार पकड़ेगा।