नाहन दोसड़का में पुलिस और सवर्ण आयोग समर्थकों के बीच खूनी झड़प

ByShailesh Saini

Mar 16, 2022

पुलिस के 4 जवान गंभीर रूप से घायल, तो प्रदर्शनकारियों को भी आई चोटें

पहले हुआ लाठीचार्ज, फिर चले पत्थर और बोतलें

HNN / नाहन

सवर्ण आयोग की मांग को लेकर सिरमौर से शिमला जा रहे प्रदर्शनकारियों व पुलिस के बीच खूनी झड़प होने का मामला जानकारी में आया है। प्राप्त जानकारी के अनुसार करीब 12 बजे देर रात को दोसड़का के पास पुलिस के द्वारा नाका लगाया गया था। इसी दौरान शिमला की और कूच कर रहे सवर्ण आयोग समर्थकों को पुलिस के द्वारा रोक लिया गया।

हालांकि पुलिस की ओर से जा रही गाड़ियों के परमिट के बारे में जानकारी ली गई। इसी दौरान काफी संख्या में सवर्ण आयोग समर्थक नाहन कुमार हट्टी मार्ग दोसड़का के पास पहुंच गए। शिमला की और कूच कर रहे सवर्ण आयोग समर्थकों ने बताया कि उन्हें पुलिस के द्वारा बेवजा रोका गया। तो वही जानकारी मिली कि अचानक पुलिस और आयोग समर्थकों के बीच बहस बढ़ गई। दोसड़का अंधेरे में किसी के द्वारा पुलिस के ऊपर पत्थर फेंका गया। जिसके बाद पुलिस और सवर्ण आयोग समर्थकों के बीच झड़प हो गई।

पुलिस के द्वारा बल का प्रयोग करते हुए लाठीचार्ज कर दिया गया। तो वही सवर्ण आयोग समर्थकों के द्वारा पुलिस पर जमकर पत्थर व शराब की खाली बोतलें बरसाई गई। प्राप्त जानकारी के अनुसार अधिकतर सवर्ण आयोग समर्थक नाहन और रेणुका जी की तरफ से शिमला की ओर जा रहे थे। इससे पहले कि एडिशनल एसपी बबीता राणा थाना, प्रमुख मानवेंद्र ठाकुर और काफी संख्या में पुलिस जवान मौके पर पहुंच चुके थे। बताया जा रहा है कि पुलिस के द्वारा दोसड़का के पास शिमला रोड पर बैरिकेट्स लगा दिए गए थे।

आयोग समर्थकों को पुलिस के द्वारा प्रदर्शन में जाने से पहले रोकने का पूरा प्रयास किया गया। तो वही भारी तादाद में जुटे सवर्ण आयोग समर्थक एक ही बात दोहरा रहे थे चाहे जान से मार दो मगर हम रुकने वाले नहीं हैं। इसी दौरान पुलिस और सवर्ण आयोग समर्थकों के बीच में जबरदस्त भिड़ंत हो गई। आयोग समर्थकों का कहना है कि पुलिस के द्वारा उन पर बेरहमी से लाठीचार्ज किया गया। जिसमें उनके कई साथी गंभीर रूप से घायल हुए हैं। तो वही जब पुलिस समर्थकों पर जमकर लाठियां बरसा रही थी तभी सवर्ण आयोग समर्थक भड़क गए और जमकर पुलिस फोर्स के ऊपर पत्थर और बोतलें बरसा दी।

इस आपसी झड़प में पुलिस के 4 जवान गंभीर रूप से घायल हुए हैं। बताया जा रहा है पुलिस के जवानों को सर आदि जगह पर गंभीर चोटें आई हैं। सवर्ण आयोग समर्थकों के द्वारा जब पुलिस पर पत्थर बरसाए गए तो पुलिस के जवान जान बचाते हुए इधर-उधर भागे। मौके का फायदा उठाते हुए सवर्ण आयोग समर्थक अपने-अपने वाहनों में शिमला की ओर निकल गए। प्राप्त जानकारी के अनुसार इस घटना से पहले श्री रेणुका जी क्षेत्र में भी पुलिस और सवर्ण आयोग समर्थकों के बीच काफी तकरार हुई थी। सवर्ण आयोग समर्थकों के शिमला में प्रदर्शन किए जाने को लेकर जो पूर्व सूचना दी गई थी।

उसको लेकर पूरे प्रदेश भर में पुलिस के द्वारा जगह-जगह नाके लगाकर सवर्ण आयोग समर्थकों को रोका जा रहा है।
उधर जिला सिरमौर पुलिस कप्तान ओमापति जमवाल ने जानकारी देते हुए बताया कि दोसड़का में हुए घटनाक्रम में पुलिस के 4 जवान घायल हुए हैं। जिन्हें उपचार के लिए नाहन मेडिकल कॉलेज लाया गया है।

बरहाल, सवर्ण आयोग को लेकर जिस प्रकार पूरे प्रदेश में सामान्य वर्ग आयोग समर्थकों को रोका गया है उसके बाद प्रदेश की जय राम सरकार प्रदेश के सवर्ण वर्ग के बीच घिरती हुई नजर आ रही है। उधर, सवर्ण आयोग व देव भूमि क्षत्रिय संगठन के दोनों प्रदेश अध्यक्षों से बात करने की कोशिश की गई मगर दोनों के स्विच ऑफ आ रहे थे।

The short URL is: