HNN/ नाहन

जिला मुख्यालय नाहन के एक कारोबारी की गंगा में डूबने से मौत हो गई है। 40 वर्षीय अमित अरोड़ा 9 नवंबर से लापता चल रहा था। परिजनों द्वारा बेटे को ढूंढने का हर जगह प्रयास किया गया परंतु जब कहीं से कोई सफलता हाथ नहीं लगी तो स्थानीय पुलिस थाना में गुमशुदगी की शिकायत दर्ज करवाई गई।

जिसके बाद पुलिस द्वारा गुमशुदगी का मामला दर्ज किया गया। इसी बीच गंगा नदी में अमित का शव बरामद किया गया परंतु शव की शिनाख्त न होने के चलते 15 नवंबर को हरिद्वार पुलिस के द्वारा अमित का अंतिम संस्कार कर दिया गया। जब उत्तराखंड पुलिस की साइट के माध्यम से लावारिस लाशों के काॅलम में अमित की तस्वीर पहचान में आई तो परिवार के सदस्य हरिद्वार के लिए रवाना हो गए।

इस दौरान उन्हें अमित का शव तो नहीं मिला लेकिन उसकी अस्थियां पुलिस ने परिजनों को सौंप दी। जिसके बाद परिजनों द्वारा अस्थियों का विसर्जन किया गया। शहर के नामी कारोबारी मनमोहन अरोड़ा का कहना है कि उनका बेटा कुछ समय से डिप्रेशन में चल रहा था। तो वहीं दूसरी तरफ अमित की मौत से परिजनों पर भी दुखों का पहाड़ टूट पड़ा है।