HNN/ पांवटा

हिमाचल किसान यूनियन धान की खरीद धीमी गति से चलने को लेकर उग्र हो गई है। इसी कड़ी में वीरवार को किसानों द्वारा मिनी सचिवालय पांवटा के बाहर धरना प्रदर्शन किया गया। इस दौरान किसानों ने धान से लदे ट्रैक्टर मिनी सचिवालय के बाहर खड़े कर दिए। इतना ही नहीं धान के कुछ कट्टे भी गेट के बाहर लगा दिए। इस दौरान किसानों ने एसडीएम कार्यालय के बाहर धरना प्रदर्शन किया।

किसानों द्वारा जयराम सरकार सहित स्थानीय विधायक तथा ऊर्जा मंत्री के खिलाफ मुर्दाबाद के नारे लगाए गए। किसानों का कहना है कि हरिपुर टोहाना मंडी में धान की खरीद बहुत धीमी चल रही है। इसी तरह से धान की खरीद धीमी रही तो सारी फसल खराब हो जायेगी। उन्होंने धान की खरीद में तेज़ी लाने की मांग की ताकि किसानों की फसल खराब न हो।

व्यापार मंडल के अध्यक्ष अनिंद्र सिंह नॉटी ने कहा कि पंजीकरण होने के बाद भी धान नहीं लिया जा रहा है। इसके बावजूद भी 5 दिन खरीद के लिए लग रहे है। किसानों को दिसंबर तक के टोकन दिए गए हैं। इतने तक तो फसल नष्ट हो जायेगी। किसानों ने कहा कि यहां धान की खरीद के लिए तीन मंडी खोलने का वायदा किया था जिसमें से एक मंडी खोली गई है।

किसानों ने मांग कि है की यहां धान के तीन केंद्र खोले जाएं। बताया कि हरिपुर टोहाना के अलावा पिपलीवाला और गिरिपार में भी धान की मंडी खोली जानी चाहिए ताकि फसल की खरीद में तेज़ी लाई जा सके।

वहीँ, एसडीएम विवेक महाजन ने किसानों की समस्याओं को सुना। एसडीएम ने किसानों को आश्वासन दिलाया कि उनकी फसल को बर्बाद नहीं होने दिया जाएगा और इस समस्या का समाधान जल्द ही किया जाएगा।