Floods-and-heavy-rains-wrea.jpg

हिमाचल के कई क्षेत्रों में बाढ़ और भारी बारिश ने मचाई तबाही, 50 भेड़ -बकरियां बही

HNN/ शिमला

हिमाचल प्रदेश में मानसून सीजन ने कहर बरपाना शुरू कर दिया है। राज्य में अभी मानसून सीजन की शुरुआत है परंतु अभी से ही मानसून ने प्रदेश भर में कहर ढाना शुरू कर दिया है। आपको बता दें कि जब से मानसून ने प्रदेश में प्रवेश किया है तब से लेकर अभी तक राज्य को भारी नुक्सान हो चुका है। मानसून सीजन के दौरान अब तक भारी संख्या में लोग अपनी जान गवां चुके हैं जबकि कई मवेशियों की भी मृत्यु हुई है।

बीते कल की बात करें तो इस दौरान प्रदेश के कई क्षेत्रों में भारी बारिश के बाद आई बाढ़ ने भारी तबाही मचाई है। इस दौरान एक तरफ जहां खेत पानी से भर गए तो वहीं दूसरी तरफ कई भेड़-बकरियां पानी के तेज बहाव में बह गई। हालांकि, राहत की बात यह है कि बाढ़ आने की इन घटनाओं में किसी तरह का कोई जानी नुक्सान नहीं हुआ है। प्राप्त जानकारी के अनुसार बीते कल कुल्लू की गड़सा घाटी की पाली पंचायत के शिलागढ़ में बादल फटने से हुरला नाले में भयंकर बाढ़ आ गई।

बाढ़ से मनिहार गांव को जोड़ने वाला एक बैली ब्रिज और तीन पुलियों के अलावा 50 भेड़-बकरियां बह गई हैं। चंबा के कुगति में भारी बारिश से मणिमहेश यात्रियों के लिए बनाईं पैदल पुलियां बह गई। पांवटा साहिब उपमंडल के मिश्रवाला में मूसलाधार बारिश के चलते शनिवार को उपमंडल पांवटा साहिब के मिश्रवाला पंचायत समेत साथ लगते पिपलीवाला आदि क्षेत्रों में बाढ़ जैसे हालत पैदा हो गए। यहां 240 बीघा जमीन पर धान की फसल पानी में डूब गई।


Posted

in

,

by

Tags: