HNN/ शिमला

कांग्रेस अध्यक्ष कुलदीप सिंह राठौर ने भाजपा सरकार पर आरोप लगाया है कि प्रदेश में सीमेंट कंपनियों के साथ साठगांठ के चलते इसके दामों में इजाफा किया जा रहा है। भाजपा अपने चुनाव खर्च का बोझ आम जनता पर महंगाई डाल कर इसे पूरा कर रही है। यहां पत्रकार वार्ता में कुलदीप सिंह राठौर ने कहा कि भाजपा चारों उप चुनावों को प्रभावित करने की पूरी कोशिश कर रही है। कही शराब दी जा रही है,कही धन दिया जा रहा है,तो कही डरा धमकाकर कर वोट लेने की कोशिश की जा रही है। उन्होंने कहा कि चुनाव आयोग को इस पर अपनी कड़ी नज़र रखते हुए अपनी निष्पक्षता कायम रखनी चाहिए।

राठौर ने कहा कि चुनाव आयोग उनसे मिल भी नही रहा है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस की आदर्श आचार संहिता की शिकायतों पर कोई भी ठोस कार्यवाही नही की जा रही है। उन्होंने कहा कि प्रदेश कांग्रेस कमेटी ने 61 शिकायतें आयोग को भेजी, उनमें 44 शिकायतें डिस्पोज़ कर दी गई, जिसकी कोई भी आधार पुख्ता जानकारी कांग्रेस को नही बताई गईं। इसमें 4 गम्भीर शिकायतों को भारत सरकार के चुनाव आयोग को भेजा गया बताया गया है जबकि 13 शिकायतें पेंडिंग रखी गई बताई गई है। उन्होंने आश्चर्य प्रकट किया कि इन शिकायतों का निपटारा कब होगा, जबकि इसे चुनाव से पहले किया जाना चाहिए था।

राठौर ने चुनाव आयोग की कार्यप्रणाली पर सवाल उठाते हुए कहा कि उन्हें लगता है कि आयोग सरकार के दवाब में कार्य कर रहा है जो देश के लोकतंत्र के लिए शुभ नही है।उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री अपनी हार से बोखलाए हुए है और अपनी जीत का दावा कर अपने कार्यकर्ताओं के मनोबल को बढ़ाने का असफल प्रयास कर रहें है। उन्होंने कहा कि लोगों ने अब अपना पूरा मन बना लिया है और यह चुनाव परिणाम प्रदेश में होने वाले 2022 में विधानसभा चुनावों में कांग्रेस की जीत की ईबारत लिखेगा।

राठौर ने मुख्यमंत्री पर आरोप लगाया कि वह मंडी में सरकारी मशीनरी का दुरुपयोग कर अपने काफिले के साथ घूम कर चुनावी सभाओं को कर रहें है। उन्होंने शंका प्रकट की कि मुख्यमंत्री के चुनाव क्षेत्र में बूथ कैप्चरिंग हो सकती है, इसलिए उन्होंने कांग्रेस कार्यकर्ताओं को इसके प्रति सचेत करते हुए इस पर कड़ी नज़र रखने को कहा है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस इन चारों उप चुनावों में भारी बहुमत से विजय हासिल करेगी और भाजपा के प्रत्याशी अपनी जमानत तक नही बचा पाएंगे।