सम्पन्नता एवं आत्मनिर्भरता के लिए युवा अपनाएं मुख्यमंत्री स्वावलंबन योजना – डॉ. सैजल

ByPRIYANKA THAKUR

Mar 29, 2022

HNN / सोलन

स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण तथा आयुष मंत्री डॉ. राजीव सैजल ने कहा कि प्राकृतिक खेती खुशहाल किसान तथा मुख्यमंत्री स्वावलंबन जैसी महत्वाकांक्षी योजनाएं हिमाचल के बेरोजगार युवाओं के लिए सम्पन्नता एवं आत्मनिर्भरता का द्वार खोल सकती हैं। डॉ. सैजल आज कसौली विधानसभा क्षेत्र की ग्राम पंचायत भोजनगर में 08 लाख रुपये की लागत से निर्मित बैठक हॉल का लोकार्पण करने के उपरांत उपस्थित जनसमूह को संबोधित कर रहे थे।

डॉ. सैजल ने ग्राम पंचायत भोजनगर में तदोपरांत सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता विभाग द्वारा अनुसूचित जाति एवं अनुसूचित जनजाति अत्याचार अधिनियम तथा विकास खंड सोलन के सौजन्य से एकीकृत जलागम प्रबंधन कार्यक्रम के तहत एक दिवसीय प्राकृतिक खेती, पशुपालन एवं प्रबंधन जागरूकता अभियान कार्यशाला की अध्यक्षता की। डॉ. सैजल ने कहा कि ज़हर मुक्त खेती न केवल भविष्य को सुरक्षित रख सकती है अपितु किसानों को उनकी उपज का बेहतर मूल्य दिलवाने में भी सहायक है।

प्रदेश सरकार प्राकृतिक खेती खुशहाल किसान योजना के माध्यम से हिमाचल को देश के उन राज्यों में शामिल करने के लिए दृढ़ संकल्प है जो प्राकृतिक खेती के माध्यम से रसायन मुक्त उत्पाद लोगों तक पहुँचाये। उन्होंने कहा कि इस उद्देश्य की पूर्ति के लिए राज्य में किसानों एवं बागवानों को प्राकृतिक खेती अपनाने के लिए प्रेरित किया जा रहा है। आयुष मंत्री ने कहा कि प्रदेश सरकार के प्रयासों से राज्य में अभी तक एक लाख से अधिक किसान प्राकृतिक खेती अपना चुके हैं। इस वर्ष 50 हजार किसानों को प्राकृतिक खेती अपनाने के लिए प्रेरित करने का लक्ष्य रखा गया है।

उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार प्राकृतिक खेती करने वाले किसानों का पंजीकरण करेगी और उनके उत्पादों का प्राकृतिक उत्पाद के रूप में प्रमाणीकरण किया जाएगा। इससे किसानों की आय में आशातीत बढ़ोतरी भी होगी। उन्होंने कहा कि ‘प्राकृतिक खेती खुशहाल किसान योजना’ के तहत सोलन जि़ला की सभी 240 ग्राम पंचायतों में 11063 किसानों को अभी तक प्रशिक्षण प्रदान किया गया हैं। जि़ला में 9076 किसान लगभग 848 हेक्टेयर भूमि पर प्राकृतिक खेती कर रहे हैं।

The short URL is: