Coming-Congress-government-.jpg

HNN/ नाहन

वीरभद्र सिंह विकास मॉडल पर चलेगी आने वाली कांग्रेस सरकार। जय राम जाने वाले हैं प्रदेश में कांग्रेस आने वाली है। यह बात आज कांग्रेस द्वारा आयोजित की गई रोजगार संघर्ष यात्रा के दौरान नाहन में शिमला ग्रामीण के विधायक विक्रमादित्य ने कहीं। उन्होंने प्रदेश सरकार पर भ्रष्टाचारी के साथ-साथ घोटालों के लिए बड़े गंभीर आरोप लगाए। उन्होंने कहा कि जो विभाग मुख्यमंत्री के खुद के पास था उसी विभाग में प्रदेश ही नहीं बल्कि पूरे देश को शर्मसार करने वाला पीपीई किट घोटाला हुआ था। उन्होंने आयोजित जनसभा में यह भी सरकार से पूछा कि क्या वजह थी कि प्रदेश के तत्कालीन अध्यक्ष व नाहन के विधायक को इस्तीफा देना पड़ा था।

उन्होंने कहा कि यह घोटाला उस दौरान हुआ जब देश के सामने महा संकट था और 1-1 जान बड़ी कीमती थी। विक्रमादित्य ने पीपीई किट घोटाले के साथ-साथ सरकार पर शराब, खनन, वन आदि माफियाओं को संरक्षण देने का आरोप भी लगाया। उन्होंने कहा कि पीपीई किट घोटाले के साथ-साथ भाजपा के कई काले चिट्ठे चार्ज शिट में शामिल किए जा चुके हैं। साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि वे केंद्र की भाजपा सरकार की तर्ज पर बदले की भावना से बिल्कुल भी काम नहीं करेंगे। मगर प्रदेश में कांग्रेस की सरकार बनते ही चार्जशीट में शामिल घोटाले बाजों को किसी भी सूरत में बख्शा नहीं जाएगा।

गौरतलब हो कि हिमाचल निर्माता डॉ. वाईएस परमार की जन्म तिथि के दिन से कांग्रेस के द्वारा रोजगार संघर्ष यात्रा का आगाज किया गया है। शिलाई और पांवटा साहिब के बाद शनिवार को नाहन में रोजगार संघर्ष यात्रा का आयोजन हुआ। बता दें कि इस रोजगार संघर्ष यात्रा के विक्रमादित्य मुख्य कन्वीनर है। विक्रमादित्य ने नाहन के बड़ा चौक में कांग्रेस मंडल के द्वारा आयोजित जनसभा में मुख्य रूप से शिरकत करी। उन्होंने जनसभा के दौरान कहा कि कांग्रेस सरकार के आने के बाद इस योजना के तहत प्रदेश की प्रत्येक विधानसभा के लिए 10-10 करोड रुपए दिए जाएंगे।

उन्होंने कहा कि इस पैसे में से हर बेरोजगार युवक को ब्याज मुक्त एक-एक लाख रुपए का ऋण भी दिया जाएगा। विक्रमादित्य ने कहा कि केंद्र की मोदी सरकार ने तो पकोड़े तलने वाले गरीब लोगों की कढ़ाई के तेल महरूम कर दिया है। महंगाई ने देश की जनता की कमर तोड़ कर रख दी है। उन्होंने प्रदेश के मुख्यमंत्री को अब तक का सबसे कमजोर मुख्यमंत्री बताते हुए उनके निर्णय क्षमताओं पर भी सवालिया निशान खड़े किए।

वही मंच पर सर्वप्रथम मंडल अध्यक्ष के बाद अजय सोलंकी के द्वारा उपस्थित जनसमूह को संबोधित किया गया। जिसमें उन्होंने स्थानीय विधायक पर शराब तथा खनन माफियाओं को संरक्षण देने का आरोप लगाया। सोलंकी ने कहा कि आज जो सिरमौर और प्रदेश में विकास नजर आ रहा है वह सब पूर्व मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह की देन रही है। सोलंकी ने कहा कि 2017 के चुनाव में नाहन के विधायक ने आर्मी सिविलियन विवाद को 50 दिन में हल करने की बात कही थी।

मगर साढ़े 4 वर्षों में यह विवाद बिल्कुल भी हल नहीं हो पाया। धार क्यारी सड़क को लेकर उन्होंने कहा कि जिस सड़क का श्रेय वह लेने की कोशिश कर रहे हैं यह उस समय बनी थी जब आपने नाहन का रास्ता भी नहीं देखा था। जब राजा वीरभद्र सिंह मुख्यमंत्री थे। उन्होंने कहा कि आज विधायक फीता काटने की राजनीति कर रहे हैं। सोलंकी ने कहा कि विधायक को अपने फीते काटने वाले कार्यक्रम में भीड़ मिलती नहीं तो वह सरकारी कर्मचारियों को कार्यक्रम में बुलाते हैं।

आयोजित कार्यक्रम में मुख्य रूप से मंडल अध्यक्ष ज्ञान चौधरी, प्रदेश कांग्रेस सचिव रूपेंद्र ठाकुर, प्रदेश सचिव सरदार सिंह ठाकुर, युवा कांग्रेस कार्यकारी प्रदेश अध्यक्ष यदुपति ठाकुर, जिला सिरमौर लीगल डिपार्टमेंट अध्यक्ष अधिवक्ता वीरेंद्र पाल, उपमा, आराधना, राकेश गर्ग, नरेंद्र तोमर, हरप्रीत कौर सहित सैकड़ों कांग्रेसी कार्यकर्ता मौजूद रहे।

This error message is only visible to WordPress admins

Cannot collect videos from this channel. Please make sure this is a valid channel ID.