HNN / चंबा

उपायुक्त चंबा डीसी राणा ने लोगों से आह्वान करते हुए कहा कि जिला में कोरोना टीकाकरण अभियान में पहली डोज लगवाने के लिए पात्र लोग जिस तरह से आगे आए थे उसी तरह से दूसरी डोज लगवाने के लिए भी आगे आएं। उन्होंने कहा कि जिला में कोरोना संक्रमण के मामलों में कमी आई है। अभी त्योहारों, शादियों और अन्य समारोहों का सीजन चल रहा है। कोविड को लेकर अगर हम एहतियात नहीं बरतेंगे या फिर टीकाकरण की दूसरी डोज नहीं लेंगे तो तीसरी लहर तथा संक्रमित मामलों की संभावना और बढ़ जाएगी।

उपायुक्त ने बताया कि प्रदेश ने पूरे देशभर में कोरोना की पहली डोज लेने में प्रथम स्थान हासिल किया है और 30 नवंबर तक दूसरी डोज को शत प्रतिशत संपूर्ण करने का लक्ष्य निर्धारित किया है।  उन्होंने बताया कि दूसरी डोज लगवाने का कार्य प्रगति पर है अभी तक जिला में सिर्फ 43 प्रतिशत लोगों ने ही वैक्सीन की दूसरी डोज ली है। जिले में करीब 70 हजार लोग ऐसे हैं जिनकी दूसरी डोज लगनी प्रस्तावित है लेकिन वे वैक्सीनेशन के लिए आगे नहीं आ रहे हैं। 

उपायुक्त ने कहा कि आदमी के शरीर में इम्यूनिटी और एंटीबॉडीज तब तक नहीं बढ़ेगी जब तक वह वैक्सीनेशन की दोनों डोज नहीं लगा लेते, अगर एक डोज ली है और दूसरी नहीं ली तो एंटीबॉडीज नहीं बढ़ेगी और आने वाले समय में कोरोना से संक्रमित होने की संभावना बनी रहेगी। उपायुक्त ने जानकारी देते हुए कहा कि जिन लोगों ने  84 दिन पहले प्रथम डोज ली हो वह दूसरी डोज लगवाने के लिए सक्षम है और पहली डोज का लाभ भी तभी होगा जब वे कोविड रोधी टीकाकरण की दूसरी डोज लगवाएंगे।

उन्होंने बताया कि कोविड-19 वैक्सीनेशन टीम को अलग-अलग जगहों पर भेजा जा रहा है और उनके समय में परिवर्तन करते हुए दोपहर 12 बजे से शाम 6 बजे तक कार्य करने के निर्देश जारी किए है ताकि खेतों में लोगों के काम में कोई बाधा ना आए और फ्री समय में टीकाकरण के लिए आ सकें। उपायुक्त ने लोगों से आग्रह करते हुए कहा कि लोग जब भी घर से निकल कर सार्वजनिक स्थानों पर आए तो मास्क और सैनिटाइजर का प्रयोग लगातार करें और सामाजिक दूरी की अनुपालन भी सुनिश्चित बनाएं  ताकि संक्रमित  होने की संभावना को कम किया जा सके।