मेलों के आयोजनों से युवाओं को अपनी समृद्ध संस्कृति से जोड़ने के होने चाहिए प्रयास – डॉ. मारकंडा

ByPRIYANKA THAKUR

Mar 13, 2022

HNN / मंडी

तकनीकी शिक्षा मंत्री डॉ. राम लाल मारकंडा ने सभी को राज्य स्तरीय छेश्चू मेले की बधाई देते हुए मेलों के जरिए युवा पीढ़ी को अपनी संस्कृति से अवगत कराने की आवश्यकता पर बल दिया। मेले के दूसरे दिन रिवालसर में निकाली शोभा यात्रा में भाग लेने के पश्चात आयेाजित कार्यक्रम में डॉ. मारकंडा ने कहा कि रिवालसर धर्मों की त्रिवेणी है। देशभर से लोग यहां आते हैं। छेश्चू मेला धार्मिक सौहार्द और समन्वय का अदभुत उदाहरण है।

ऐसे आयोजनों के जरिये हमें युवाओं को अपनी समृद्ध संस्कृति से जोड़ने के लक्ष्य के साथ प्रयास करने चाहिए। इससे पहले तकनीकी शिक्षा मंत्री ने बौद्ध मंदिर में पूजा अर्चना की और गुरू पदमसंभव की प्रतिमा के दर्शन कर शीश नवाया। डॉ. मारकंडा ने कहा कि जय राम सरकार ने मंडी समेत पूरे हिमाचल का समान और संतुलित विकास सुनिश्चित किया है। जनहित की अभूतपूर्व पहलें और कल्याकारी योजनाएं लोगों के जीवन में सुरक्षा और खुशहाली लाने वाली बनीं हैं।

उन्होंने कहा कि बल्ह में अंतर्राष्टीय स्तर का हवाई अड्डा स्थापित होने का मार्ग प्रशस्त हुआ है। सीएम जय राम ठाकुर के निरंतर प्रयासों से आने वाले समय में हजारों करोड रुपये की लागत से इस हवाई अड्डे का निर्माण किया जाएगा। इससे न केवल बल्ह क्षेत्र बल्कि पूरे मंडी जिले में पर्यटन गतिविधियों को नए आयाम मिलेंगे। डॉ. मारकंडा ने कहा कि जल्द ही इंजीनियरिंग कॉलेज सुंदरनगर में एमटेक कोर्स शुरू किया जाएगा।

मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर ने इसकी घोषणा की है। इससे बच्चों को बड़े पैमाने पर लाभ होगा। उन्होंने आश्वासन दिया कि रिवालसर में आईटीआई खोलने को लेकर वे लोगों की मांग को मुख्यमंत्री के समक्ष रखेंगे। उन्होंने निचले बल्ह में खेली गई आईटीआई में आगामी सत्र से 2 नए ट्रेड आरंभ करने की घोषणा की। डॉ. मारकंडा ने कहा कि प्रदेश सरकार तकनीकी शिक्षा के जरिए युवाओं के कौशल विकास पर जोर दे रही है।


The short URL is: