HNN/ चंबा

पैनइंडिया जागरूकता कार्यक्रम के तहत राष्ट्रीय विधिक सेवाएं प्राधिकरण (नालसा) और राष्ट्रीय महिला आयोग (एनसीडब्ल्यू ) के संयुक्त तत्वावधान में “महिलाओं के उत्थान और उनके अधिकारों के संरक्षण में संवैधानिक दायित्व और विधिक सेवाएं संस्थाओं की भूमिका” विषय पर जिला स्तरीय विधिक जागरूकता शिविर का आयोजन बचत भवन में किया गया। शिविर के शुभारंभ सत्र में उपायुक्त डीसी राणा ने बतौर मुख्यातिथि शिरकत की। जबकि जिला एवं सत्र न्यायाधीश शरद लगवाल समापन सत्र के मुख्य अतिथि रहे।

शुभारंभ सत्र में अपने संबोधन के दौरान उपायुक्त ने कहा कि महिलाओं को अपने अधिकारों के हनन की अवस्था में जागरूक होने के साथ दूसरों के अधिकारों की रक्षा भी अवश्य करनी चाहिए। उन्होंने यह भी कहा कि महिलाओं के सशक्तिकरण में आर्थिक स्वतंत्रता सबसे अहम है। महिलाओं के उत्थान के लिए सरकार द्वारा आरंभ की गई सभी महत्वपूर्ण योजनाओं से जुड़कर लाभ लिया जाना चाहिए। विभिन्न सामाजिक कुरीतियों के खात्मे को लेकर डीसी राणा ने महिलाओं से आह्वान करते हुए कहा कि दहेज प्रथा, भ्रूण हत्या, बाल विवाह, नशीले पदार्थों का सेवन गंभीर चिंता का विषय है।

इन्हें रोकने के लिए महिलाओं को आगे आना चाहिए। इस दौरान उपायुक्त ने वन स्टॉप सेंटर के माध्यम से महिलाओं को दी जाने वाली सुविधाओं की जानकारी भी प्रदान की। शिविर के समापन सत्र को संबोधित करते हुए जिला एवं सत्र न्यायाधीश शरद लगवाल ने कहा कि पुरुष प्रधान समाज में महिलाओं के प्रति सकारात्मकता लाने के लिए महिला वर्ग ही महत्वपूर्ण भूमिका निभा सकता है। वर्तमान परिदृश्य में महिलाओं के प्रति लोगों की सोच में सकारात्मक बदलाव लाए जाने की आवश्यकता पर जोर देते हुए जिला एवं सत्र न्यायाधीश ने कहा कि महिलाओं को अपने अधिकारों की रक्षा के लिए आगे आना चाहिए।

प्राधिकरण द्वारा महिलाओं को दी जाने वाली विधिक सेवाओं के बारे में जानकारी देते हुए शरद लगवाल ने कहा कि महिलाएं प्राधिकरण से निशुल्क कानूनी सहायता प्राप्त कर सकती हैं। महिलाओं के लिए आय सीमा निर्धारित नहीं है। उन्होंने इस दौरान शिविर में भाग लेने वाली महिलाओं को भागीदारी प्रमाण पत्र भी प्रदान किए। सचिव जिला विधिक सेवाएं प्राधिकरण पंकज गुप्ता ने प्राधिकरण द्वारा निशुल्क कानूनी सहायता प्राप्त करने के लिए नालसा ऐप, विधिक सहायता सेल, कॉमन सर्विस सेंटर के माध्यम से सहायता लेने से संबंधित विषय पर जानकारी प्रदान की।