बेटा-बेटी के घर पहुंचते ही परिजनों की खुशी का नहीं रहा ठिकाना, आंखों से छलके आंसू

As soon as the son and daughter reached home, there was no place for the happiness of the family

HNN / मनाली

रूस और यूक्रेन के बीच जारी जंग में भारत सरकार लगातार वहां फंसे भारतीय छात्रों को सुरक्षित निकालने का प्रयास कर रही है। हालांकि अभी तक 6400 भारतीय वापिस लाए गए हैं। वही, पर्यटन नगरी मनाली के भाई-बहन भी वीरवार को अपने घर लौटे। बता दे कि दोनों यूक्रेन में नेशनल यूनिवर्सिटी में एमबीबीएस की पढ़ाई कर रहे थे।

जैसे ही रूस और यूक्रेन के युद्ध की खबर घर वालों को मिली वह दिन रात अपने बच्चों और वहां फंसे तमाम भारतीय नागरिकों की सुरक्षा के लिए भगवान से दुआएं मांगने लगे। आखिरकार परिजनों की दुआएं उनके बच्चों को तो वापस ले आए लेकिन अभी भी कुछ भारतीय फंसे हुए हैं। जैसे ही दोनों भाई बहन घर पहुंचे मां पिता ने उन्हें गले लगा लिया। इतना ही नहीं दादा-दादी की आंखों से भी पोता पोती को देखकर आंसू छलक उठे।

The short URL is: