Electricity wires pose a danger to the gardeners and villagers,

बिजली की तारें बागवानों व ग्रामीणों के लिए बनी खतरा, पेड़-पौधों को….

HNN / संगड़ाह

उपमंडल संगड़ाह की चोकर पंचायत के केंथा गांव में बिजली की तारें बागवानों अथवा ग्रामीणों के लिए खतरा बनी हुई है। तारे जमीन से इतनी नजदीक है कि यहां से गुजरने वाले वाहनों में तारे टच हो सकती है। ग्रामीणों का कहना है कि, दो वर्षों से बिजली विभाग के अधिकारियों को इस लाइन में खंभे ऊंचा करने का आग्रह किया जा रहा है, मगर विभाग ने आज तक इस लाइन को दुरुस्त करने की जहमत नही उठाई।

तारे पेड़ों व पौधों को टच कर रही है। पूर्व पंचायत प्रधान मोरध्वज चौहान, किसान सभा जिला अध्यक्ष रमेश वर्मा, योगराज व पंचायत प्रधान शशिभूषण आदि बागवानों के अनुसार उन्होंने अपने बागीचों में नेट लगाने है, मगर बागीचे में तारे कई पौधों में टच हो रही है, जिसके चलते वह यह जालियां लगाने का कार्य नही कर पा रहे है।

यदि जल्द तारों को न उठाया व खंबे नही लगाए गए तो बागीचे में जालियां न लगने की सूरत में ओलावृष्टि से बागवानों को भारी नुक्सान उठाना पड़ सकता है। पूर्व पंचायत प्रधान मोरध्वज चौहान ने बताया कि, गत दिनों एक पिकअप भी तारों मे टच होने के कारण स्पार्किंग हुई और गनीमत यह रही कि गाड़ी में आग नही लगी। विद्युत विभाग के कनिष्ठ अभियंता कपिल कुमार ने बताया कि,2-3 दिनों मे खंबे लगाकर तारों को ऊंचा कर दिया जाएगा।


Posted

in

,

by

Tags: