Relatives-looking-for-loved.jpg

बाढ़ की चपेट में आने से लापता हुए लोगों का नहीं लगा कोई सुराग..

HNN/ कुल्लू

मणिकर्ण घाटी में चोझ के गौहर नाले में बुधवार को बादल फट गया। बादल फटने के साथ ही नाले में बाढ़ आ गई जिसकी चपेट में चार लोग आ गए जिनका अभी तक कोई सुराग नहीं लग पाया है। हालाँकि एनडीआरएफ और एसडीआरएफ के साथ पुलिस व होमगार्ड के जवान लापता लोगों को ढूंढने का लगातार प्रयास कर रहे हैं परंतु अभी तक कोई भी सफलता हाथ नहीं लग पाई है।

जवानों द्वारा चलाए जा रहे इस सर्च अभियान में लापता लोगों के परिजन भी पूरा-पूरा सहयोग कर रहे हैं। परिजन नम आंखों से अपनों को मलबे के ढेर में ढूंढ रहे हैं। बड़ी बात यह है कि परिजन हाथ में गैंती, फाबड़ा और बेलचा लिए स्वयं भी चोझ नाले की बाढ़ में अपनों की तलाश करते रहे। आपको बता दें कि पार्वती घाटी में चोझ के गौहर नाले में बुधवार को बादल फट गया।

इस दौरान बादल फटने के कारण बाढ़ आ गई जिसकी चपेट में आने से सुंदरनगर निवासी रोहित, कांगड़ा निवासी राहुल, हमीरपुर के अर्जुन और राजस्थान का कपिल लापता हो गए। इतना ही नहीं बाढ़ से चोझ तक जाने वाला पुल भी बह गया। वहीँ, 5 दिन बीत जाने के बाद भी लापता चल रहे चारों लोगों में से किसी का भी सुराग नहीं लग पाया है।


Posted

in

,

by

Tags: