Three days training program organized for farmers in Burma Papdi Panchayat

बर्मा पापड़ी पंचायत में किसानों के लिए तीन दिवसीय प्रशिक्षण कार्यक्रम आयोजित

HNN / नाहन

कृषि विज्ञान केंद्र धौला कुआं की ओर से बर्मा पापड़ी में तीन दिवसीय प्रशिक्षण कार्यक्रम आयोजित किया गया। कार्यक्रम में कृषि विज्ञान केंद्र धौला कुआं के विशेषज्ञों के द्वारा किसानों से उनकी समस्याओं पर चर्चा कर उनके हल के बारे में विस्तार से जानकारी दी गई। कृषि विज्ञान केंद्र के प्रभारी डॉ एसएस पलियाल ने बताया कि कृषि विज्ञान केंद्र में किए जा रहे परीक्षण किसानों तक पहुंचाने के हर संभव प्रयास किए जा रहे है ताकि कृषि विज्ञान केंद्र में किए जा रहे शोध का किसानों तक लाभ पहुंच सके और किसान खेती व पशु पालन में उन्नत तकनीक अपनाकर अपनी आय को बढ़ा सकें।

इस दौरान उन्होंने कृषि के लिए प्रयोग हो रहे रसायनिक खाद की जगह ऑर्गेनिक खेती करने के लिए किसानों को प्रेरित किया। डॉ पलियाल ने कहा कि रसायनिक खाद्य व अन्य दवाइयों के कारण धरती जहरीली होती जा रही है। जिसका हमारे खान-पान व दिनचर्या पर सीधा असर पड़ रहा है। जैविक खेती कर किसान जहां रसायनों के प्रयोग से होने वाले नुक्सान से बच सकते हैं। डॉक्टर संगीता अत्री ने किसानों को खान-पान व मोटे अनाज से होने वाले फायदे के बारे में विस्तार से जानकारी दी। इस दौरान महिलाओं को गाय का घी तैयार करने के बारे में भी विस्तार से बताया गया।

डॉक्टर हर्षिता सूद ने पशुओं में होने वाली बीमारियों व उनके उपचार के बारे में बताया। इस दौरान उन्होंने कहा कि अपने पालतू पशुओं को प्रचुर मात्रा में प्रोटीन व मिनिरल प्रदान करें ताकि वह स्वस्थ रहें। पशुपालन विभाग से डॉक्टर प्रवेश ने पशुओं में होने वाले रोगों व उनके उपचार के बारे में जानकारी दी। उन्होंने पशुपालन विभाग द्वारा चलाई जा रही योजनाओं के बारे में भी विस्तार से बताया। मौसम वैज्ञानिक डॉ भीम पारीक ने किसानों को मौसम के अनुसार खेती में दवाइयों व अन्य खाद का प्रयोग करने के बारे में जानकारी दी।

उन्होंने कहा कि कृषि विज्ञान केंद्र धौला कुआं द्वारा हर सप्ताह मौसम एडवाइजरी जारी की जाती है। किसान इस एडवाइजरी का लाभ जरूर ले। ग्राम पंचायत प्रधान शेर सिंह ने कार्यक्रम में आए कृषि वैज्ञानिकों का आभार जताया। उन्होंने कहा कि इस तरह के कार्यक्रम से किसानों को सीधा लाभ पहुंचता है। ग्राम पंचायत प्रधान राजेंद्र चौहान ने कहा कि किसान विज्ञान केंद्र धौला कुआं का किसानों के बीच जाकर उनकी समस्याओं का निदान करने का प्रयास सराहनीय है। इस तरह के कार्यक्रमों से किसानों को सीधा लाभ पहुंचता है।


Posted

in

,

by

Tags: