प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा आज गुरु पूर्णिमा के पावन पर्व पर जहां देशवासियों को शुभकामनाएं दी गई, तो वही प्रधानमंत्री ने आज एक बड़ा ऐलान करते हुए तीनों कृषि कानूनों को वापस लेने की घोषणा भी की। दरअसल आज 9 बजे पीएम नरेंद्र मोदी ने राष्ट्र को संबोधित किया, जहां उन्होंने तीनों कृषि कानूनों को वापिस लेने का फैसला लिया है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि सरकार ने नाराज किसानों को समझाने का हरसंभव प्रयास किया। कई मंचों से उनसे बातचीत हुई, लेकिन वो नहीं माने। पीएम मोदी ने कहा कि हमारी तपस्या में ही कमी रही होगी, जिसकी वजह से हम कुछ किसानों को नहीं समझा पाए। इसलिए, अब तीनों कृषि कानूनों को वापस लेने का फैसला किया गया है। प्रधानमंत्री ने कृषि कानूनों की वापसी का ऐलान करते हुए आंदोलनरत किसानों से अपने-अपने घर लौटने का आग्रह किया।

मोदी ने कहा, ‘मैं आज अपने सभी आंदोलनरत किसान साथियों से आग्रह कर रहा हूं कि गुरुपर्व के पवित्र दिन आप अपने-अपने घर लौटें, अपने खेतों में लौटें, अपने परिवार के बीच लौटें।