Punjab got new cabinet - ten MLAs including women became ministers

पंजाब को मिला नया मंत्रिमंडल-महिला समेत दस विधायक बने मंत्री

पंजाब चुनाव में प्रचंड जीत के बाद आम आदमी पार्टी के भगवंत मान ने जहां 16 मार्च को शहीद-ए-आजम भगत सिंह के पैतृक गांव खटकड़कलां में मुख्यमंत्री पद की शपथ ली थी। वही , आज भगवंत मान ने अपने मंत्रिमंडल का भी गठन कर दिया है। भगवंत मान की कैबिनेट का गठन आज राजभवन में हुआ। जिसमे राज्यपाल ने 10 विधायकों को मंत्री पद की शपथ दिलाई।

शपथ ग्रहण समारोह में सबसे पहले विधायक हरपाल सिंह चीमा ने शपथ ली। जिसके बाद डॉ. बलजीत कौर, हरभजन सिंह, डॉ. विजय सिंगला, गुरमीत सिंह मीत, हरजोत सिंह, लाल चंद, कुलदीप सिंह धालीवाल, लालजीत सिंह भुल्लर, ब्रह्म शंकर (जिम्पा) ने शपथ ली।

हरपाल सिंह चीमा-बता दे कि दिड़बा विधानसभा सीट से लगातार दूसरी बार विधायक बने हरपाल सिंह चीमा विधानसभा में प्रतिपक्ष के नेता रहे हैं। चीमा पेशे से वकील रहे हैं और आम आदमी पार्टी के साथ शुरू ही जुड़े रहे हैं। वे आम आदमी पार्टी के बड़े दलित चेहरे माने जाते हैं।

डॉक्टर बलजीत कौर -डॉक्टर बलजीत कौर आम आदमी पार्टी के पूर्व सांसद साधु सिंह की बेटी हैं। डॉक्टर बलजीत कौर मलोट विधानसभा सीट से विधायक निर्वाचित हुई हैं। डॉक्टर बलजीत कौर पेशे से नेत्र रोग विशेषज्ञ हैं।

हरभजन सिंह ईटीओ- हरभजन सिंह ईटीओ को भी भगवंत मान ने अपने मंत्रिमंडल में शामिल किया है हरभजन सिंह ईटीओ जंडियाला विधानसभा सीट से विधायक निर्वाचित हुए हैं। हरभजन सिंह 2012 में ईटीओ बने थे और 2017 में स्वैच्छिक सेवानिवृत्ति लेकर आम आदमी पार्टी में शामिल हो गए थे।

डॉक्टर विजय सिंगला- मानसा से विधायक निर्वाचित हुए डॉक्टर विजय सिंगला ने प्रसिद्ध पंजाबी गायक और कांग्रेस उम्मीदवार सिद्धू मूसेवाला को मात दी थी। वे पेशे से डेंटल सर्जन हैं।

लालचंद कटारूचक्क -लालचंद कटारूचक्क भोआ विधानसभा सीट से विधानसभा चुनाव जीते हैं। वे काफी समय से समाजसेवा में सक्रिय रहे हैं और पहले दफा ही चुनाव जीतकर विधानसभा पहुंचे हैं।

गुरमीत सिंह मीत- गुरमीत सिंह मीत लगातार दूसरी बार बरनाला से विधायक बने हैं। गुरमीत दिल्ली में अन्ना हजारे के भ्रष्टाचार विरोधी आंदोलन से जुड़े और बाद में आम आदमी पार्टी में शामिल हो गए। 32 साल के मीत हेयर दूसरी बार विधायक निर्वाचित हुए हैं।

हरजोत सिंह बैंस -हरजोत सिंह बैंस श्री आनंदपुर साहिब विधानसभा सीट से विधायक हैं। हरजोत सिंह बैंस ने पिछली सरकार के दौरान पंजाब विधानसभा के स्पीकर रहे राणा केपी सिंह को मात दी थी। हरजोत आम आदमी पार्टी की यूथ विंग के अध्यक्ष भी हैं।

लालजीत भुल्लर – लालजीत भुल्लर ने पट्टी सीट से आदेश प्रताप सिंह कैरों को मात दी थी। कैरों, पूर्व मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल के दामाद हैं।

ब्रह्मशंकर जिम्पा– ब्रह्मशंकर जिम्पा ने होशियारपुर सीट से चुनाव जीता। उन्होंने चन्नी सरकार के मंत्री सुंदर अरोड़ा को मात दी थी। ब्रह्मशंकर 25 साल पार्षद भी रहे हैं।

कुलदीप सिंह धालीवाल –अजनाला सीट से विधायक बने कुलदीप सिंह धालीवाल सात साल पहले आम आदमी पार्टी से जुड़े थे।


Posted

in

by

Tags: