शिकायत पर आईआरएस समेत तीन अफसरों के खिलाफ केस दर्ज

HNN / बद्दी

प्रदेश के सबसे बड़े औद्योगिक क्षेत्र बद्दी में जीएसटी इंफोर्समेंट के अधिकारियों ने एक व्यापारी को बुरी तरह से पीट डाला। मेडिकल रिपोर्ट में जहां व्यापारी के कंधे पर गंभीर चोटों की पुष्टि हुई है वहीं ऊंगलियों में फ्रेक्चर आए हैं। व्यापारी की शिकायत के बाद बद्दी पुलिस ने मारपीट करने वाले अधिकारियों के खिलाफ मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। इनमे आईआरएस समेत तीन अफसरों के खिलाफ एफआईआर दर्ज हुई है।

पुलिस थाना बद्दी में दर्ज ब्यान में आजाद गुप्ता (37) पुत्र शिव चरण गुप्ता निवासी हाऊसिंग बोर्ड बद्दी ने बताया कि इसका सर्जिकल सेफ्टी एंव सफाई प्रोडक्ट का व्यवसाय है। वह अन्य एक फर्म में भी प्रोपराईटर है। पिछले कुछ दिनों से मोतिया प्लाजा स्थित जीएसटी इंफोर्समेंट कार्यालय में इसे रोज बुलाया जा रहा था। जो दस्तावेज विभाग ने इसे प्रस्तुत करने के लिए कहा वह इसमें पूरा सहयोग कर रहा था।

मंगलवार को जीएसटी इंफोर्समेंट के अधिकारियों ने इसे सुबह से बुला लिया और शाम तक इसे कार्यालय में बिठाकर रखा। विभागीय अधिकारी इस पर दबाव बनाकर 50 लाख रूपये की डिमांड कर रहे थे। जब इसने डिमांड का विरोध किया जो जीएसटी सतर्कता उपनिदेशक हरेंद्र पाल सिंह के अलावा अन्य अधिकारियों राकेश बंसल तथा विक्रम से ने इस पर हमला कर दिया। सभी ने इसे बुरी तरह से पीटा इसका हाथ मरोडक़र इसे जमीन पर गिरा दिया।

इसे कमरे में बंद करके लगातार पीटा गया। जब इसने फोन करके घर से पैसों के इंतजाम के लिए कहा तो योगेश मौके पर पहुंचा। इन सभी ने योगेश के साथ भी मारपीट की और वह बड़ी मुश्किल से इनके चंगुल से निकलकर भागा। मारपीट में इसका गंभीर चोटें आई और इसके वायें हाथ की ऊंगली व कंधे पर गहरी चोट गली है।  डीएसपी बद्दी नवदीप सिंह ने बताया कि पुलिस ने व्यापारी की शिकायत के बाद मेडिकल करवाया है। पुलिस ने अधिकारियों के खिलाफ आईपीसी की धारा 342, 325 व 34 के तहत मामला दर्ज करके जांच शुरू कर दी है।