dfgdg

जनजातीय दर्जा न दिए जाने पर भाजपा नेताओं के प्रति बैठक में जताई नाराजगी

HNN/ संगड़ाह

हाटी समिति द्वारा उपमंडल संगड़ाह के भराड़ी में खुमली बैठक का आयोजन किया गया। बैठक में आगामी विधानसभा चुनाव से पूर्व गिरीपार को जनजातीय दर्जा दिए जाने की मांग को लेकर आंदोलन अथवा गतिविधियां तेज कर सरकार पर दबाव बनाने का निर्णय लिया गया। बैठक में हाटी समिति की संगड़ाह ब्लॉक इकाई के अध्यक्ष रविंद्र चौहान व किसान सभा जिलाध्यक्ष सिरमौर रमेश वर्मा सहित नौहराधार तहसील इकाई के कईं पदाधिकारी मौजूद रहे।

इस दौरान 26 फरवरी को शिलाई में होने वाले हाटी खुमली सम्मेलन की तैयारियों व लोगों को ले जाने के लिए गाड़ियों की व्यवस्था पर चर्चा की गई। इस सप्ताह उपमंडल संगड़ाह के रजाणा, अंधेरी व संगड़ाह आदि में हाटी समिति की खुमली बैठक हो चुकी है। समिति पदाधिकारियों ने बयान मे कहा कि, वर्ष 1967 में साथ लगते तत्कालीन युपी के बाबर जौंसार क्षेत्र को अनुसूचित जनजाति दर्जा मिलने के बाद से गिरिपार के लोग लगातार यह मांग कर रहे हैं।‌

उन्होने कहा, 1979 मे अनुसूचित जाति आयोग के सदस्य टीएस नेगी ने भी इस बारे सिफारिश की थी। गौरतलब है कि, पिछले कईं दशकों से हर विधानसभा चुनाव के दौरान सिरमौर जिला के 3 विधानसभा क्षेत्रों मे अनुसुचित जनजाति दर्जा मुख्य मुद्दा रहता है।


Posted

in

,

by

Tags: