HNN/ किन्नौर

उत्तराखंड से किन्नौर जिले के छितकुल के लिए निकले 11 में से पांच ट्रैकर्स की मृत्यु हो गई है। पांचों के शव जवानों द्वारा बरामद कर लिए गए हैं। इसके अलावा 2 लोगों को जहां रेस्क्यू किया गया है तो वही अभी भी 4 लोग लापता चल रहे हैं जिनका कहीं कुछ सुराग नहीं लग पाया है। लिहाजा सेना सहित आईटीबीपी और किन्नौर पुलिस लगातार लापता चल रहे ट्रैकर्स को ढूंढने का प्रयास कर रही है।

इस दौरान जवानों द्वारा हेलीकॉप्टर की मदद भी ली जा रही है। इन सभी की पहचान दिल्ली की अनीता रावत(38) पश्चिम बंगाल के मिथुन दारी(31) तन्मय तिवारी (30), विकास मकल (33) सौरभ घोष (34) सावियन दास (28), रिचर्ड मंडल (30), सुकेन मांझी (43), देवेंद्र (37), ज्ञान चंद्र (33) और उपेंद्र (32) सभी निवासी उत्तरकाशी के पुरोला के रूप में हुई है।

बता दें कि बुधवार को आठ पर्यटकों समेत 11 लोग लापता हो गए थे। जिसके बाद सेना, आईटीबीपी और पुलिस जवानों द्वारा सर्च अभियान शुरू किया गया। इस दौरान 5 लोगों के शव बरामद कर लिए गए साथ ही दो लोगों को रेस्क्यू कर लिया गया। इसके अलावा अभी भी 4 लोग लापता बताए जा रहे हैं जिनका कहीं कोई सुराग नहीं लग पाया है।

डीसी किन्नौर आबिद हुसैन सादिक ने बताया कि लम्खागा पास चोटी में इस दल के लापता होने की सूचना उत्तराखंड सरकार ने हिमाचल सरकार को दी थी। जिसके बाद जवानों की मदद से रेस्क्यू अभियान चलाया गया। बताया कि लापता चल रहे लोगों को ढूंढने का प्रयास किया जा रहा है तथा जल्द ही उन्हें ढूंढ लिया जाएगा।