HNN/ कांगड़ा

ग्रामीण विकास एवं पंचायती राज मंत्री वीरेंद्र कंवर ने जयसिंहपुर उपमंडल के कंगैहण में एक करोड़ साठ लाख से निर्मित काऊ सेंचुरी का शुभारंभ किया। इस काउ सैंचुरी में प्रारंभिक तौर पर 450 गौवंश के संरक्षण की व्यवस्था की गई है। इस अवसर पर ग्रामीण विकास मंत्री वीरेंद्र कंवर ने कहा कि गौ सेवा से बड़ी सेवा कोई नहीं है।

हिमाचल प्रदेश के लिए बेसहारा पशु एक बहुत बड़ी समस्या बन गए थे तथा इसी सोच के कारण सरकार ने यह निर्णय लिया कि हिमाचल प्रदेश में काऊ सेंचुरी का निर्माण किया जाए जिससे पशुओं को किसी दुर्घटना का शिकार ना होना पड़े तथा उन्हें रहने के लिए एक ऐसी जगह उपलब्ध करवाई जाए जहां उन्हें रहने के साथ-साथ पीने का पानी तथा खाने के लिए घास की व्यवस्था आसानी से हो।

उन्होंने कहा कि जनवरी माह में कांगड़ा जिला के लुथान में गौ अभ्यारण्य का शुभारंभ किया गया है जिस पर करीब तीन करोड़ 96 लाख की राशि व्यय की गई है, लुथान में एक हजार गायों को रखने की क्षमता है। पंचायती राज मंत्री ने कहा कि सुलह के नागणी में भी एक करोड़ 17 लाख की लागत से काऊ सेंचुरी निर्मित की जा रही है।

वीरेंद्र कंवर ने कहा कि राज्य के विभिन्न क्षेत्रों में काऊ सेंचुरी के माध्यम से करीब 20 हजार मवेशियों का संरक्षण किया गया है। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार गौ सदनों को प्रति गाय 500 रुपये प्रति माह प्रदान कर रही है ताकि उनके लिए चारे की उचित व्यवस्था की जा सके।

This error message is only visible to WordPress admins

Cannot collect videos from this channel. Please make sure this is a valid channel ID.