कुटलैहड़ को शिक्षण संस्थानों व स्वास्थ्य सुविधाओं का बनाया हब – वीरेंद्र कंवर

ByPRIYANKA THAKUR

Mar 2, 2022

HNN / ऊना, वीरेंद्र बन्याल

ग्रामीण विकास, पंचायती राज, कृषि, मत्स्य तथा पशु पालन मंत्री वीरेंद्र कंवर ने संपर्क से समर्थन यात्रा के तहत ग्राम पंचायत मुच्छाली के झवरानी, नायली, घडोह, नायली, भलेत, बौट, तेई व म्हरोट गांव में जन समस्याएं सुनीं और उनका निवारण करने के निर्देश दिए। ग्रामीण विकास मंत्री वीरेंद्र कंवर की इस यात्रा में बड़ी संख्या में लोग शामिल हुए और उनकी यात्रा को अपना भरपूर समर्थन दिया। इस अवसर पर वीरेंद्र कंवर ने कहा कि कुटलैहड़ विस क्षेत्र को शिक्षण संस्थानों व स्वास्थ्य सुविधाओं का हब बनाया गया है। कंवर ने कहा कि बंगाणा में शिक्षा के क्षेत्र में अभूतपूर्व विकास किया गया है।

बंगाणा कॉलेज में एमए हिंदी, एमए इंग्लिश सहित एमकॉम व पीजीडीसीए की कक्षाएं शुरू की गई है, जिसका लाभ युवाओं को मिल रहा हैं। उन्होंने कहा कि बंगाणा महाविद्यालय में एनसीसी के आर्मी व नेवी विंग आरंभ हो गए हैं जबकि शीघ्र ही एयरफोर्स विंग भी शुरू होने जा रहा है और बंगाणा कॉलेज प्रदेश का पहला महाविद्यालय होगा, जहां पर एनसीसी के तीनों विंग होंगे। इसके अतिरिक्त बंगाणा में ही उप-रोजगार कार्यालय भी खोला गया है, जिससे आज क्षेत्र के हजारों युवाओं को लाभ मिल रहा है। उन्होंने कहा कि लोगों की सुविधा के लिए सिविल अस्पताल बंगाणा को अपग्रेड करके 50 बैड का बनाया गया है तथा अस्पताल का नया भवन भी बनाया जाएगा।

हाल ही में मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर ने 14.70 करोड़ रुपये से बंगाणा अस्पताल के नए भवन तथा थानाकलां में 3.73 करोड़ रुपये की लागत से सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र के ओ.पी.डी.ब्लॉक का शिलान्यास किया है। यही नहीं स्वास्थ्य विभाग की विभिन्न योजनाओं से भी कुटलैहड़ के निवासी लाभान्वित हो रहे हैं। उन्होंने कहा कि बंगाणा उपमंडल में आयुष्मान भारत के तहत 6414 परिवारों तथा हिमकेयर योजना के तहत 5757 परिवारों को पंजीकरण किया गया है, जिससे बीमारी से ग्रसित लोगों को निःशुल्क ईलाज करवाने में मदद मिलेगी।

ग्रामीण विकास एवं पंचायती राज मंत्री वीरेंद्र कंवर ने कहा कि बंगाणा में 19 करोड़ रुपए की लागत से मिनी सचिवालय, 10 करोड़ की लागत से बीडीओ कार्यालय तथा नया बस स्टैंड बनाया जा रहा है। इसके अतिरिक्त बंगाणा में अग्निशमन विभाग का कार्यालय खोला गया है, इको पार्क का निर्माण किया गया और सीवरेज की स्कीम निर्माणाधीन है।

The short URL is: