इलाज के नाम पर तांत्रिक ने बनाया दो बहनों को हवस का शिकार

HNN/ गुरप्रीत सिंह बद्दी

एक तांत्रिक द्वारा दो बहनों के साथ इलाज़ के नाम पर दुष्कर्म करने का मामला सामने आया है। तांत्रिक द्वारा बागवानियां के निकटवर्ती कसंबोवाल स्थित डेरे पर लड़कियों के साथ दुष्कर्म को अंजाम दिया गया। नाबालिग के साथ दुष्कर्म का मामला 15 मार्च का है जबकि दूसरी लडक़ी के साथ दिसंबर 2021 में दुष्कर्म किया गया। दोनों लड़कियां उपमंडल नालागढ़ की हैं और रिश्ते में बहनें लगती है। परिजनों की शिकायत के बाद महिला पुलिस थाना बद्दी में तांत्रिक के खिलाफ पोक्सो एक्ट व दुष्कर्म का मामला दर्ज किया गया है। पुलिस ने आरोपी तांत्रिक को हिरासत में लेकर जांच शुरू कर दी है।

लड़कियों का मेडिकल करवाया जा रहा है और मेडिकल रिपोर्ट के आधार पर ही आगामी कार्रवाई अमल में लाई जाएगी। दुष्कर्म का मामला सामने आने के बाद डेरे पर पहुंचकर लकडिय़ों के परिजनों व रिश्तेदारों ने तांत्रिक की छित्तर परेड भी कि जिसका वीडियो वायरल हो गया। तांत्रिक पर 3 वर्ष पहले भी दुष्कर्म के आरोप लगे थे, लेकिन बदनामी के डर से मामला दर्ज नहीं करवाया गया था। महिला पुलिस थाना बद्दी को दी शिकायत में नाबालिग की मां ने बताया कि उसकी 17 वर्षीय बेटी जमा दो की छात्रा है। पति आर्मी में कोलकत्ता में कार्यरत है और वह खुद काफी समय से बीमार थी।

इसने काफी जगह अपना इलाज़ करवाया लेकिन इसे फर्क नहीं पड़ा। जिसके बाद किसी से इसे मालूम हुआ कि वारियां गांव में झाडफ़ूंक करने वाला बाबा है जिसने कई लोगों को ठीक किया है। 4 नंबवर 2021 को इसने बाबा के पास इलाज़ करवाया तथा झाडफ़ूंक करने के बाद इसकी तबीयत ठीक हो गई और इसने अपना इलाज़ जारी रखा। कुछ दिन बाद इसकी बेटी के सिर में अचानक दर्द हुआ और इसने फोन करके बाबा को बताया। बाबा ने इसे कहा कि तेरी बेटी पर बुरी चीजों का असर और इसने तेरा बांधा अपने ऊपर ले लिया है। इसको बागवानियां घर पर ले आना इसको ठीक कर दूंगा।

15 मार्च को यह बेटी को लेकर कसंबोवाल स्थित बाबा के डेरे पर गई जहां पर बाबा ने बेटी को 2 बजे के बाद देखने को कहा। 2 बजे जब सब लोग चले गए तो बाबा ने पूजा का सामान लेकर इसे और बेटी को ध्यान लगाने को कहा। जिसके बाद बाबा इसे पूजा के सामान के साथ दूसरे कमरे में ले गया और कहा कि जब तक मैं न कहूं ध्यान लगाकर रखना उठना मत। उसके बाद बाबा उसकी बेटी को झाड-फ़ूंक करने के लिए दूसरे कमरे में ले गया और स्पीकर पर ऊंची आवाज में भजन लगा दिए। झाडफ़ूंक करने के बहाने और भूतप्रेत का डर दिखाकर बाबा ने बेटी के जबरन कपड़े उतारे और अंधेरे कमरे में बेटी के साथ शारीरिक संबंध बनाए।

बेटी ने उस समय डराए धमकाए जाने के कारण किसी से भी इस बात का जिक्र नहीं किया और बाद में आपबीती बताई। वहीं दूसरे मामले में नाबालिग की 19 वर्षीय बहन ने बताया कि उसने डी फार्मेसी की पढ़ाई की है और एक निजी अस्पताल में फार्मासिस्ट है। इसके शरीर पर काले दाग पड़ते हैं और इसने कई जगह इलाज करवाया लेकिन इसे फर्क नहीं पड़ा। इसे अपनी बुआ से पता चला कि एक बाबा है जो इस तरह की बीमारियों का इलाज़ करता है। जिसके बाद यह अपने पिता के साथ दिसंबर 2021 में कसंबोवाल स्थित डेरे पर इलाज़ करवाने गई। जहां बाबा ने झाडफ़ूंक के बहाने डरा धमकाकर इसके साथ जबरदस्ती दुष्कर्म किया।

उधर, एसपी बद्दी मोहित चावला ने बताया कि पुलिस ने लड़कियों के परिजनों की शिकायत के आधार पर पोक्सो एक्ट व विभिन्न धाराओं के तहत दुष्कर्म का मामला दर्ज करके जांच शुरू कर दी है। कहा कि मेडिकल रिपोर्ट के आधार पर आगामी कार्रवाई अमल में लाई जाएगी।