आर्थिकी को मज़बूती प्रदान करने में वित्तीय संस्थानों की महत्वपूर्ण भूमिका

BySAPNA THAKUR

Mar 24, 2022
Important-role-of-financial.jpg

HNN/ नाहन

उपायुक्त सिरमौर राम कुमार गौतम ने कहा कि विभिन्न स्तरों पर आर्थिकी को मज़बूती प्रदान करने में वित्तीय संस्थानों की महत्वपूर्ण भूमिका रही है। उपायुक्त यहां जिला के अग्रणी बैंक यूको बैंक द्वारा निर्धारित जिला सलाहकार समीति की त्रैमासिक बैठक की अध्यक्षता कर रहे थे। आरके गौतम ने कहा कि व्यक्तिगत एवं सामाजिक स्तर पर आर्थिकी को सुदृढ़ करने में बैंक सराहनीय भूमिका निभा रहे हैं। उन्होंने बैंक प्रतिनिधियों से आग्रह किया कि जिला के आमजन तक वित्तीय योजनाएं पंहुचाने के लिए सशक्त एवं प्रभावी प्रचार सुनिश्चित करें।

उन्होंने निर्देश दिए कि जिला के गांव-गांव में वित्तीय योजनाओं के प्रचार के लिए जागरूकता शिविर आयोजित किए जाएं। उन्होंने महत्वाकांक्षी जन धन योजना के तहत अधिक से अधिक बैंक खाते खोलने के निर्देश दिए और जिला में कार्यरत विभिन्न बैंकों के अधिकारियों को निर्देश दिए कि लम्बित पड़े ऋण मामलों को 26 मार्च 2022 से पूर्व निपटाएं तथा 28 मार्च 2022 तक इसके बारे में विस्तार से जानकारी अग्रणी बैंक को प्रेषित करें। उन्होंने विभिन्न विभागों के अधिकारियों को भी निर्देश दिए कि वे ऋण सम्बन्धी मामलों के अविलम्ब निपटारे के लिए बैंकों के साथ उचित समन्वय स्थापित करें।

उन्होंने निर्देश दिए कि कृषि ऋण के अन्तर्गत प्रदान किए जाने वाले उपदान के विषय में विस्तृत जानकारी प्रदान करें ताकि कृषक इस सम्बन्ध में जागरूक रहें। उन्होंने ऋण प्रदान करते समय कागज़ी कार्यवाही को संवेदनशीलता के साथ पूर्ण करने के निर्देश भी दिए। बैठक में जानकारी दी गई कि जिला में दिसंबर 2021 तक प्रधानमंत्री जन धन योजना के तहत 11077 खाते खोले गए हैं। इन खातों में 127078 लाख रुपए जमा किए गए हैं। प्रधानमंत्री मुद्रा योजना के तहत जिला में दिसंबर 2021 तक योजना की शिशु श्रेणी के तहत 1758 लाभार्थियों को लगभग 685 लाख रुपए, किशोर श्रेणी में 1814 व्यक्तियों को लगभग 3035लाख रुपये तथा तरूण श्रेणी के तहत 350 लाभार्थियों को लगभग 2525 लाख रुपये स्वीकृत किए गए हैं।

उपायुक्त ने कहा कि यूको आरसेटी को कृषि व्यवसाय से सम्बन्धित प्रशिक्षण कार्यक्रम आरम्भ करने की सम्भावनाएं तलाशनी चाहिए। यूको ग्रामीण स्वरोज़गार प्रशिक्षण संस्थान (यूको आरसेटी) को ऐसे प्रशिक्षण कार्यक्रम आयोजित करने चाहिएं, जो युवाओं को रोज़गार एवं स्वरोज़गार के बेहतर अवसर प्रदान कर सकें। युकोआरसेटी को विभिन्न विभागों से बेहतर समन्वय स्थापित कर पंचायत स्तर पर प्रशिक्षण शिविर तथा केसीसी मेलों का आयोजन समय-समय पर करते रहना चाहिए ताकि ज्यादा से ज्यादा ग्रामीण लोग लाभान्वित हो सके।

The short URL is: